सांझा करें ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं
हिन्दी शब्दकोश से अन्तस् शब्द का अर्थ तथा उदाहरण पर्यायवाची एवं विलोम शब्दों के साथ।

अन्तस् (संज्ञा)

१. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / ज्ञान

अर्थ : शरीर की वह आंतरिक अमूर्त सत्ता जिसमें भले-बुरे का ठीक और स्पष्ट ज्ञान होता है।

उदाहरण : अंतरात्मा से निकली आवाज़ सच होती है।

पर्यायवाची : अंतःकरण, अंतःपुर, अंतःसार, अंतर, अंतरात्मा, अंतर्घट, अंतर्मन, अंतस्, अन्तःकरण, अन्तःपुर, अन्तःसार, अन्तर, अन्तरात्मा, अन्तर्घट, अन्तर्मन, जमीर, ज़मीर, जियरा, जिया, योनि, हृदय

अनुभव, विचार, विकार यांचे अधिष्ठान.

अंतःकरणातून निघालेला आवाजच खरा.
अंतःकरण, अंतरंग, अंतरात्मा, अंतर्मन, अंतर्याम, काळीज, चित्त, जीव, मन, मानस, हृदय

The locus of feelings and intuitions.

In your heart you know it is true.
Her story would melt your bosom.
bosom, heart
२. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / गुणधर्म

अर्थ : प्राणियों में अनुभव, संकल्प-विकल्प, इच्छा, विचार आदि करने वाली शक्ति।

उदाहरण : मन की चंचलता को दूर करना कठिन कार्य है।
दूसरे के मन की बात कौन जान सकता है।

पर्यायवाची : अंतःकरण, अंतर, अंतस्, अन्तःकरण, अन्तर, असु, चित, चित्त, छाती, जहन, ज़हन, ज़िहन, ज़ेहन, जिहन, जी, जेहन, तबियत, तबीयत, दिल, पेट, मन, मनसा, मानस

अनुभव, विचार, विकार यांचे अधिष्ठान असलेली यंत्रणा.

प्रार्थनेने माणसाचे मन शुद्ध होते.
त्याचा या कामात जीव लागत नव्हता
अंतःकरण, अंतरंग, अंतर्याम, काळीज, चित्त, जीव, मन, मानस, हृदय
मुहावरे भाषा को सजीव एवं रोचक बनाते हैं। हिन्दी भाषा के मुहावरे यहाँ पर उपलब्ध हैं।