सांझा करें ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं
हिन्दी शब्दकोश से अपुण्य शब्द का अर्थ तथा उदाहरण पर्यायवाची एवं विलोम शब्दों के साथ।

अपुण्य (संज्ञा)

१. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / कार्य / असामाजिक कार्य

अर्थ : इस लोक में बुरा माना जाने वाला और परलोक में अशुभ फल देने वाला कर्म।

उदाहरण : झूठ बोलना बहुत बड़ा पाप है।

पर्यायवाची : अक, अकर्म, अघ, अधर्म, अपराध, अमीव, अमीवा, अराद्धि, कलुष, कल्क, गुनाह, तमस, तमस्, त्रियामक, पातक, पाप, पाष्मा, वृजन, वृजिन, हराम

या लोकी वाईट मानले जाणारे व परलोकी अशुभ फळ देणारे कर्म.

संतांच्या दर्शनानेच पाप नाहीसे होतील
दुरित, पातक, पाप

An act that is regarded by theologians as a transgression of God's will.

sin, sinning

अपुण्य (विशेषण)

१. विशेषण / विवरणात्मक / गुणसूचक

अर्थ : बिना पुण्य का या जिसे करने से पुण्य न मिले।

उदाहरण : अपुण्य कर्म नहीं करना चाहिए।

पर्यायवाची : पुण्यरहित, पुण्यहीन

पुण्य नसलेले.

पाप कर्म करणे चांगले नाही.
पाप

Not hallowed or consecrated.

unhallowed, unholy
२. विशेषण / विवरणात्मक / गुणसूचक

अर्थ : जो धर्मानुसार पवित्र न हो।

उदाहरण : हिंदू मान्यता के अनुसार किसी भी अपवित्र स्थान पर गंगा जल छिड़कने से वह पवित्र हो जाता है।

पर्यायवाची : अपवित्र, अपावन, अपुनीत, अमेध्य, अशुचि, अशुद्ध, असुचि, उच्छिष्ट, उछिष्ट, गर्हित, गलीज, ग़लीज़, दूषित, नापाक, मकरुह

पवित्र नाही असा.

अपवित्र ठिकाणी गंगाजळ शिंपडले की ते ठिकाण पवित्र होते
अपवित्र, अमंगल, अमंगळ

Not holy because unconsecrated or impure or defiled.

profane, unconsecrated, unsanctified
मुहावरे भाषा को सजीव एवं रोचक बनाते हैं। हिन्दी भाषा के मुहावरे यहाँ पर उपलब्ध हैं।