सांझा करें ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं

अर्क (संज्ञा)

१. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु
    संज्ञा / रूप / द्रव

अर्थ : किसी पदार्थ का वह रस जो भभके आदि से खींचने पर निकले।

उदाहरण : पुदीने का अर्क पेट के लिए बहुत अच्छा होता है।

पर्यायवाची : अरक, अर्क़, आसव, रस, सत, सार

२. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / प्राकृतिक वस्तु
    संज्ञा / भाग

अर्थ : वनस्पतियों अथवा उनके फूल, फल,पत्तों आदि में रहने वाला वह तरल पदार्थ जो दबाने, निचोड़ने आदि पर निकलता या निकल सकता है।

उदाहरण : नीम की पत्तियों का रस पीने तथा लगाने से चर्म रोग दूर होता है।

पर्यायवाची : अरक, जूस, रस

३. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / खाद्य
    संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / मानवकृति
    संज्ञा / रूप / द्रव

अर्थ : औषधियों आदि को पानी में उबालकर बनाया हुआ रस।

उदाहरण : वैद्यजी ने रोगी को प्रतिदिन तुलसी की पत्ती का काढ़ा पीने को कहा।

पर्यायवाची : अरिष्ट, काढ़ा, क्वाथ, जोशाँदा

४. संज्ञा / सजीव / जन्तु / पौराणिक जीव

अर्थ : हिन्दू धर्मग्रंथों में वर्णित एक देवता।

उदाहरण : वेदों में भी सूर्यदेव की पूजा का विधान है।

पर्यायवाची : अंशुमान, अंशुमाली, अधिरथी, अरविंदबंधु, अरविन्दबन्धु, अर्जमा, अर्णव, अर्यमा, अर्य्यमा, अविनीश, अह, अहस्पति, आदित्य, आदिदेव, कालेश, कुवम, केश, खगपति, गभस्ति, गभस्तिपाणि, गभस्तिहस्त, गविष्ठ, गोकर, चक्रबंधु, चक्रबन्धु, चक्रबांधव, चक्रबान्धव, चित्रभानु, जगत्साक्षी, ज्वालमाली, तरणि, तीक्ष्णरश्मि, तीक्ष्णांशु, तुंगीश, त्रयीतन, त्रयीमय, त्विषामीश, दनमणि, दिनकर, दिनमणि, दिवसकर, दिवसकृत, दिवसनाथ, दिवसभर्ता, दिवसमणि, दिवसेश, दिवसेश्वर, दिवस्पति, दिवामणि, दिवावसु, दिव्यांशु, दीप्तकिरण, दुड़ियंद, द्यु-पति, द्यु-मणि, द्युपति, द्युम्न, नभश्चक्षु, नभस्मय, पचत, पद्मगर्भ, प्रजादार, प्रजाध्यक्ष, भट्टारक, भानु, भास्कर, भूताक्ष, मरीची, मार्तंड, मार्तण्ड, मिहिर, यमसू, वरेय, वृषाकपि, वेदवादन, वेदात्मा, वेदोदय, वेध, वेधा, सहस्रकिरण, सहस्रगु, सावित्र, सूर्य, सूर्य देव, सूर्य देवता, सूर्यदेव, हेमकर, हेममाली

५. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / प्राकृतिक वस्तु

अर्थ : हमारे सौर जगत का वह सबसे बड़ा और ज्वलंत तारा जिससे सब ग्रहों को गर्मी और प्रकाश मिलता है।

उदाहरण : सूर्य सौर ऊर्जा का एक बहुत बड़ा स्रोत है।
पूर्व से सूर्य को आते देख तिमिर दुम दबाकर भागने लगा।

पर्यायवाची : अंबु तस्कर, अंबुतस्कर, अंशुमान, अंशुमाली, अग, अदित, अनड्वान्, अफताब, अफ़ताब, अब्जबाँधव, अब्जबांधव, अब्जहस्त, अयुग्मवाह, अरणि, अरणी, अरुण, अरुणसारथी, अरुन, अवबोधक, अवि, अविनीश, आदित्य, आफताब, आफ़ताब, कालेश, केश, खगपति, गभस्ति, गभस्तिपाणि, गभस्तिहस्त, गविष्ठ, गोकर, चक्रबंधु, चक्रबन्धु, चक्रबांधव, चक्रबान्धव, चित्रभानु, जगत्साक्षी, तपस, तपु, तमोहपह, तिग्मगर, तिमिररिपु, तिमिरहर, तिमिरारि, तीक्ष्णरश्मि, तीक्ष्णांशु, तुंगीश, त्रयीतन, त्रयीमय, दिनअर, दिनकर, दिनेश, दिवसकर, दिवसकृत, दिवसनाथ, दिवसभर्ता, दिवसेश, दिवसेश्वर, दिवस्पति, दिवाकर, दिवामणि, दिवावसु, दिव्यांशु, दीप्तकिरण, दीप्तांशु, द्युपति, द्युम्न, धरुण, ध्वांतशत्रु, ध्वांताराति, ध्वान्तशत्रु, ध्वान्ताराति, नभश्चक्षु, नभश्चर, नभस्मय, नभोमणि, निर्मुट, पद्मगर्भ, पद्मबंधु, पद्मबन्धु, पद्मिनीकांत, पद्मिनीकान्त, पद्मिनीवल्लभ, पद्मिनीश, पर्परीक, पुष्कर, प्रभाकर, भानु, भास्कर, भूताक्ष, मरीची, मार्तंड, मार्तण्ड, मिहिर, यमसू, रवि, वरेय, विश्वप्रकाशक, विश्वप्स, विहंग, विहग, वेद, वेदात्मा, शीघ्रग, सविता, सहस्रकिरण, सहस्रगु, सूरज, सूर्य, स्वप्ननंशन, हृषु

६. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / समय / अवधि

अर्थ : शनिवार के बाद का और सोमवार से पहले का दिन।

उदाहरण : हमारे यहाँ विद्यालय, कार्यालय, आदि रविवार को बंद रहते हैं।

पर्यायवाची : अत्तवार, अर्कदिन, आदित्यवार, इतवार, एतवार, दीतवार, भट्टारकवार, भानुदिन, रवि वासर, रविदिन, रविवार, रविवासर, संडे, सन्डे

७. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / गुणधर्म
    संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / मानवकृति

अर्थ : वे शब्द या वाक्य जिनका जप इष्ट-सिद्धि या किसी देवता की प्रसन्नता के लिए किया जाता है।

उदाहरण : पंडितजी महामृत्युंज्य मंत्र का जाप कर रहे हैं।

पर्यायवाची : ऋचा, मंतर, मंत्र, मन्तर, मन्त्र, रिचा, स्तुति मंत्र, स्तुति मन्त्र

८. संज्ञा / सजीव / वनस्पति / वृक्ष

अर्थ : जड़, तने, शाखा तथा पत्तियों से युक्त बहुवर्षीय वनस्पति।

उदाहरण : पेड़ मनुष्य के लिए बहुत ही उपयोगी हैं।

पर्यायवाची : अग, अघ्रिप, अनोकह, अमंद, अमन्द, आसना, जर्ण, तरु, तरुवर, दरख़्त, दरख्त, द्रुम, नख़्ल, नख्ल, पल्लवी, पादप, पुलाकी, पेड़, प्रतिबंधक, प्रतिबन्धक, बीरो, भूमिजात, रुक्ष, रूँख, रूख, रूखड़ा, रूखरा, विटप, विटपी, वृक्ष, शिखरी, शिखी, साखि, साखी, स्कंधी, स्कन्धी

९. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / प्राकृतिक वस्तु

अर्थ : जलती हुई लकड़ी, कोयला या इसी प्रकार की और कोई वस्तु या उस वस्तु के जलने पर अंगारे या लपट के रूप में दिखाई देने वाला प्रकाशयुक्त ताप।

उदाहरण : आग में उसकी झोपड़ी जलकर राख हो गई।

पर्यायवाची : अगन, अगनी, अगिआ, अगिन, अगिया, अगिर, अग्नि, अनल, अनिलसखा, अमिताशन, अय, अर्दनि, अशिर, आग, आगि, आगी, आज्यमुक, आतश, आतिश, आशर, आशुशुक्षणि, आश्रयास, कालकवि, चित्रभानु, जगन्नु, जल्ह, तनूनपात्, तनूनपाद्, तपु, तपुर्जंभ, तपुर्जम्भ, तमोनुद, तमोहपह, दाढ़ा, दाव, दाहक, द्यु, धरुण, ध्वांतशत्रु, ध्वांताराति, ध्वान्तशत्रु, ध्वान्ताराति, नीलपृष्ठ, परिजन्मा, पर्परीक, पवन-वाहन, पशुपति, पावक, बरही, बहनी, बाहुल, भारत, मलिनमुख, यविष्ठ, राजन्य, लघुलय, वर्हा, वसु, वसुनीथ, वह्नि, विंगेश, विश्वप्स, वृष्णि, वैश्वानर, शिखि, शिखी, शुक्र, शुचि, सोमगोपा, हुतासन, हृषु, हेमकेली

१०. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / समय / अवधि

अर्थ : चान्द्र मास के किसी पक्ष की सातवीं तिथि।

उदाहरण : राकेश का जन्म कृष्ण पक्ष की सप्तमी को हुआ था।

पर्यायवाची : सतमी, सत्तमी, सप्तमी, सप्तमी तिथि

११. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / खाद्य

अर्थ : खाने (या पीने) के काम आने वाली वस्तु जिससे शरीर को ऊर्जा मिले और शारीरिक विकास हो।

उदाहरण : गाँव की अपेक्षा शहरों में खाद्य वस्तुएँ बहुत महँगी हैं।

पर्यायवाची : अन्न, आहर, आहार, आहार पदार्थ, इरा, खाद्य, खाद्य पदार्थ, खाद्य वस्तु, खाद्य सामग्री, खाद्य-सामग्री, खाद्यपदार्थ, खाद्यवस्तु, खाना, तआम, फूड, भोज्य पदार्थ, रसद

१२. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / पौराणिक वस्तु

अर्थ : इन्द्र का प्रधान शस्त्र।

उदाहरण : एक बार इन्द्र ने बाल हनुमान पर वज्र से प्रहार किया था।

पर्यायवाची : इंद्रायुध, इन्द्रशस्त्र, इन्द्रायुध, ऋभुक्ष, कुलिश, जंभारि, जातू, जुञ्ज, तुंज, त्रिदशांकुश, त्रिदशायुध, त्वाष्ट्र, पवि, पौरुहूत, बज्र, बहुधार, भेदुर, वज्र, वज्राशनि, वधस्न, शतकोटि, शाक्वर, हीर

१३. संज्ञा / सजीव / जन्तु / स्तनपायी / व्यक्ति

अर्थ : वह जिसे किसी चीज का अच्छा ज्ञान हो।

उदाहरण : भारत शुरू से ही ज्ञानियों का देश रहा है।

पर्यायवाची : अल्लामह, अल्लामा, कोबिद, कोविद, जानकार, ज्ञाता, ज्ञानी, पंडित, भिज्ञ, विद्वान, विवुध, विवेकज्ञ, वेध, वेधा, सुमन

१४. संज्ञा / सजीव / वनस्पति / जलीय वनस्पति

अर्थ : पानी के भीतर होनेवाली एक प्रकार की घास।

उदाहरण : तालाब में शैवाल अधिक होने के कारण तैरने में असुविधा होती है।

पर्यायवाची : अंबुचामर, अम्बुचामर, अर, अरक, अवका, जलकेश, जलपृष्ठजा, जलशूचक, तोयवृक्ष, तोयशूका, वारिचामर, शैवाल, सकंटक, सिवार, सिवाल, सेवार

१५. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / शारीरिक वस्तु
    संज्ञा / रूप / द्रव

अर्थ : परिश्रम अथवा गर्मी के कारण शरीर की त्वचा के छिद्रों से निकलने वाला द्रव।

उदाहरण : मजदूर पसीने से तर था।

पर्यायवाची : अरक, झल्लरी, तनुरस, तनुसर, पसीना, पसेउ, पसेव, प्रस्वेद, श्रमजल, श्रमवारि, स्वेद

अर्क के संभावित विलोम शब्द : अखाद्य, अज्ञानी, अनभिज्ञ, अशुचि, कुसुम, जल, निराहार, पानी, मंद, मूर्ख, लहू

अर्क के लिऐ अंग्रेजी भाषा के शब्द: alga, algae, decoction, dominicus, essence, initiate, learned person, lord's day, perspiration, pundit, savant, sudor, sun, sunday, surya, sweat, vajra

अर्क (विशेषण)

१. विशेषण / विवरणात्मक / संख्यासूचक

अर्थ : दस और दो।

उदाहरण : नाव में बारह लोग सवार हैं।

पर्यायवाची : 12, XII, दरजन, दर्जन, दर्जनभर, द्वादश, द्विदश, बारह, १२

अर्क के लिऐ अंग्रेजी भाषा के शब्द: 12, dozen, twelve, xii