सांझा करें ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं
हिन्दी शब्दकोश से आश्चर्य शब्द का अर्थ तथा उदाहरण पर्यायवाची एवं विलोम शब्दों के साथ।

आश्चर्य (संज्ञा)

१. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / बोध

अर्थ : मन का वह भाव जो किसी नई, विलक्षण या असाधारण बात को देखने, सुनने या ध्यान में आने से उत्पन्न होता है।

उदाहरण : आश्चर्य की बात यह है कि इतनी बड़ी ख़बर सुनकर भी उन्होनें कोई प्रतिक्रिया नहीं की।

पर्यायवाची : अचंभव, अचंभा, अचंभो, अचंभौ, अचम्भव, अचम्भा, अचम्भो, अचम्भौ, अचरज, आचरज, इचरज, कौतुक, तअज्जुब, ताज़्जुब, ताज्जुब, विस्मय, हैरत, हैरानी

२. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु

अर्थ : आश्चर्य उत्पन्न करने वाली वस्तु।

उदाहरण : ताजमहल विश्व के सात आश्चर्यों में से एक है।

पर्यायवाची : अचंभव, अचंभा, अचंभो, अचंभौ, अचम्भव, अचम्भा, अचम्भो, अचम्भौ, अचरज, अजब, अजीब, अजूबा, अद्भुत वस्तु, इचरज, कौतुक, तअज्जुब, ताज़्जुब, ताज्जुब, विस्मय, हैरत

३. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / मनोवैज्ञानिक लक्षण

अर्थ : रस के नौ स्थायी भावों में से एक।

उदाहरण : आश्चर्य अद्भुत रस का स्थायी भाव है।

आश्चर्य के लिऐ अंग्रेजी भाषा के शब्द :- amazement, astonishment, marvel, stupefaction, surprise, turn, wonder

मुहावरे भाषा को सजीव एवं रोचक बनाते हैं। हिन्दी भाषा के मुहावरे यहाँ पर उपलब्ध हैं।