सांझा करें ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं
हिन्दी शब्दकोश से कृपण शब्द का अर्थ तथा उदाहरण पर्यायवाची एवं विलोम शब्दों के साथ।

कृपण (संज्ञा)

१. संज्ञा / सजीव / जन्तु / स्तनपायी / व्यक्ति

अर्थ : कंजूसी करनेवाला व्यक्ति।

उदाहरण : रमेश बहुत बड़ा कंजूस है।
कंजूसों का धन आखिर किस काम का !।

पर्यायवाची : अनुदार, कंजूस, करमट्ठा, क्षुद्र, खबीस, पणि, रंक, सूम, सोम

जवळ पैसा असूनही तो खर्च करण्याची ज्याची इच्छा नाही अशी व्यक्ती.

त्या कंजूषाचा पैसा शेवटी कोणाच्याही कामी आला नाही.
कंजूष, कवडीचुंबक, कृपण, चिक्कू

A selfish person who is unwilling to give or spend.

churl, niggard, scrooge, skinflint

कृपण (विशेषण)

१. विशेषण / विवरणात्मक / गुणसूचक

अर्थ : जो धन का भोग या व्यय न करे और न ही किसी को दे।

उदाहरण : इतना धनी होने के बावजूद भी वह कंजूस है।

पर्यायवाची : अनुदार, अवदान्य, कंजूस, कदर्य, करमट्ठा, कुमुद, क्षुद्र, चीमड़, तंगदस्त, तंगदिल, मत्सर, रंक, रेप, सूम, सोम

जवळ पैसा असूनही तो खर्च करण्याची ज्याची इच्छा नाही असा.

आपल्या कंजूस स्वभावामुळे तो औषधपाण्यावरही खर्च करत नसे
अवेच, कंजूष, कंजूस, कद्रू, कवडीचुंबक, कृपण, चिकट, चिक्कू

Unwilling to part with money.

closefisted, hardfisted, tightfisted
मुहावरे भाषा को सजीव एवं रोचक बनाते हैं। हिन्दी भाषा के मुहावरे यहाँ पर उपलब्ध हैं।