सांझा करें ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं
हिन्दी शब्दकोश से खग शब्द का अर्थ तथा उदाहरण पर्यायवाची एवं विलोम शब्दों के साथ।

खग (संज्ञा)

१. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / प्राकृतिक वस्तु

अर्थ : वह खगोलीय पिंड जो सूर्य की परिक्रमा करता है।

उदाहरण : पृथ्वी एक ग्रह है।

पर्यायवाची : आकाशचारी, ग्रह, विहग, सारंग

सूर्याभोवती फिरणारा खगोलीय पिंड.

पृथ्वी हा एक ग्रह आहे.
ग्रह
२. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / प्राकृतिक वस्तु

अर्थ : आसमान में दिखाई देने वाले स्थिर खगोलीय पिंड जो रात को चमकते नज़र आते हैं।

उदाहरण : पृथ्वी से बहुत ही दूर होने के कारण तारे छोटे दिखते हैं।

पर्यायवाची : उड़ु, उड़ुचर, ऋक्ष, तारक, तारका, तारा, नक्षत्र, नभश्चर, रोचनी, सारंग, सितारा, स्टार

रात्री आकाशात चमचमणारे प्रकाश पुंज.

सूर्यास्त झाल्यावर आकाशात तारे चमकतात
चांदणी, तारका, तारा, तेजोगोल, नक्षत्र

Any celestial body visible (as a point of light) from the Earth at night.

star
३. संज्ञा / जातिवाचक संज्ञा
    संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / मानवकृति

अर्थ : धातु आदि का बना वह पतला लम्बा हथियार जो धनुष द्वारा चलाया जाता है।

उदाहरण : बाण लगते ही पक्षी तड़फड़ाने लगा।

पर्यायवाची : आशुग, इशिका, इशीका, इषीका, इषु, इष्य, ईषु, कांड, काण्ड, चित्रपुंख, तीर, पत्रवाह, पीलु, पुंडरीक, पुण्डरीक, पुष्कर, प्राणशोषण, बाण, बान, मार्गन, वाण, विशिख, विहंग, विहग, शर, शायक, शिखंडी, शिखण्डी, शिखी, सलाक, सायक

धनुष्याच्या साहाय्याने सोडले जाणारे, एका टोकाशी पाते असलेले लांब शस्त्र.

दशरथाचा बाण लागून श्रावण बाळ घायाळ झाला.
तीर, बाण, विशिख, शर, सायक

A projectile with a straight thin shaft and an arrowhead on one end and stabilizing vanes on the other. Intended to be shot from a bow.

arrow
४. संज्ञा / जातिवाचक संज्ञा
    संज्ञा / सजीव / जन्तु / पक्षी

अर्थ : पंख और चोंच वाला द्विपद जिसकी उत्पत्ति अंडे से होती है और जो नियततापी होता है।

उदाहरण : झील के किनारे रंग-बिरंगे पक्षी बैठे हैं।

पर्यायवाची : अंतरिक्षसत्, अन्तरिक्षसत्, आकाशचारी, उड़ु, उड़ुचर, चिड़िया, जिह्वारद, तपस, दिवाचर, द्विज, द्विजाति, द्विपक्ष, नभश्चर, नभसंगम, नीड़क, नीड़ज, पंखी, पंछी, पक्षी, पखेरू, पतंगम, पतंगी, पतग, पतत्रि, पतन्, पतम, पतय, पत्रती, पत्ररथ, पत्रवाज, पत्रवाह, परिंदा, परिन्दा, पर्णवी, पाँखी, पांखी, पाखी, रसनारव, विहंग, विहंगम, विहग, शकुन

पंख,चोच असलेले उष्ण रक्ताचे अंडज,द्विपाद सजीव.

भरतपूरच्या अभयारण्यात निरनिराळ्या जातीचे पक्षी आहेत
खग, पक्षी, पाखरू, विहंग, विहंगम, विहग

Warm-blooded egg-laying vertebrates characterized by feathers and forelimbs modified as wings.

bird
मुहावरे भाषा को सजीव एवं रोचक बनाते हैं। हिन्दी भाषा के मुहावरे यहाँ पर उपलब्ध हैं।