सांझा करें ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं
हिन्दी शब्दकोश से खदिर शब्द का अर्थ तथा उदाहरण पर्यायवाची एवं विलोम शब्दों के साथ।

खदिर (संज्ञा)

१. संज्ञा / सजीव / वनस्पति / वृक्ष

अर्थ : एक प्रकार का बबूल।

उदाहरण : खैर की लकड़ी से सत निकाला जाता है।

पर्यायवाची : कथकीकर, खैर, तिक्तसार, पथिद्रुम, पूत-द्रु, पूतद्रु, बालतनय, यूपद्रु, रक्तसार, सोनकीकर

East Indian spiny tree having twice-pinnate leaves and yellow flowers followed by flat pods. Source of black catechu.

acacia catechu, catechu, jerusalem thorn
२. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / खाद्य
    संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / प्राकृतिक वस्तु
    संज्ञा / भाग

अर्थ : खैर की लकड़ी का निकला हुआ सत्त।

उदाहरण : कत्था पान के साथ खाया जाता है।

पर्यायवाची : कत्था, खदिरसार, खैर, जिह्वाशल्य, पूत-द्रु, पूतद्रु, मदनक, मेध्य, रक्तसार, श्वेतसार

मुख्यत्वे खैर वृक्षाच्या लाकडापासून काढलेला अर्क गाळून वाळवल्यावर मिळणारा घन पदार्थ.

खैराच्या मेलेल्या झाडापासून कात मिळत नाही.
कात

Extract of the heartwood of Acacia catechu used for dyeing and tanning and preserving fishnets and sails. Formerly used medicinally.

black catechu, catechu
३. संज्ञा / व्यक्तिवाचक संज्ञा
    संज्ञा / सजीव / जन्तु / पौराणिक जीव

अर्थ : एक देवता जो स्वर्ग तथा देवताओं के अधिपति माने जाते हैं।

उदाहरण : वेदों में इंद्र की आराधना का उल्लेख है।

पर्यायवाची : अचलधृष, अदित, अनंतदृष्टि, अनन्तदृष्टि, अनेकलोचन, अप्सरेश, अमर-राज, अमरनाथ, अमरपति, अमरप्रभु, अमरराज, अमरवर, अमराधिप, अमरेश, अमरेश्वर, अरब, अर्, अर्वण, अलकेश, आदित्य, इंद, इंदर, इंदु, इंद्र, इंद्रदेव, इन्द, इन्दर, इन्दु, इन्द्र, इन्द्रदेव, जंभारि, तुरासाह, त्रिदशपति, त्रिदशाधिप, त्रिदशेश्वर, त्रिदिवाधीश, दानवारि, दिव-राज, दिवक्ष, दिवराज, देवराज, देवेंद्र, देवेन्द्र, देवेश, दैत्यदानवमर्दन, दैत्यारि, दौल्मि, द्युपति, पचत, पविधर, पाकशासन, पाकहंता, पाकहन्ता, पाकारि, पुरंदर, पुरन्दर, पूतक्रतु, पौलोम, बिड़ौजा, मघवान, मदनपति, महेंद्र, महेन्द्र, मेघपति, यामनेमि, युयुधान, रंभापति, रम्भापति, वज्रधर, वरेंद्र, वरेन्द्र, वलसूदन, वलहंता, वलहन्ता, वलहिष, विजयंत, विवुधेश, विश्वभुज, वृत्रनाशन, वृत्रवैरी, वृत्रहा, वृत्रारि, वृषण, वृषाकपि, वृष्णि, वेत्रहा, शंबरारि, शक्र, शचींद्र, शचीन्द्र, शम्बरारि, शाक्वर, शिखी, श्वेतवह, श्वेतवाह, सहस्रचक्षु, सहस्रनेत्र, सुरकेतु, सुरनाथ, सुरनायक, सुरनाह, सुरपति, सुरभानु, सुरेंद्र, सुरेन्द्र, सुरेश, स्वर्पति

४. संज्ञा / सजीव / जन्तु / स्तनपायी / व्यक्ति

अर्थ : एक ऋषि।

उदाहरण : सामवेद में खदिर के नाम से गृह्य सूत्र हैं।

पर्यायवाची : खदिर ऋषि

A mentor in spiritual and philosophical topics who is renowned for profound wisdom.

sage
मुहावरे भाषा को सजीव एवं रोचक बनाते हैं। हिन्दी भाषा के मुहावरे यहाँ पर उपलब्ध हैं।