सांझा करें ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं
हिन्दी शब्दकोश से तड़क भड़क शब्द का अर्थ तथा उदाहरण पर्यायवाची एवं विलोम शब्दों के साथ।

तड़क भड़क (संज्ञा)

१. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / कार्य

अर्थ : वह आचरण, काम आदि जिसमें ऊपरी बनावट का भाव रहता है।

उदाहरण : संत कबीर ने पाखंड पर तीखा व्यंग किया है।

पर्यायवाची : अटब्बर, अड़ाड़ा, आडंबर, आडम्बर, चमक दमक, चमक-दमक, टीम-टाम, टीमटाम, ठाट, ठाटबाट, ढकोसला, ढचर, ढोंग, तड़क-भड़क, तमेला झमेला, तमेला-झमेला, ताम झाम, ताम-झाम, तामझाम, दिखावटीपन, दिखावा, परपंच, परपञ्च, पाखंड, पाखण्ड, पाषंड, पाषण्ड, प्रपंच, प्रपञ्च, बनावट, बाँकपन, बांकपन, लिफ़ाफ़ा, लिफाफा

दिखाऊपणाचे वागणे.

संतांनी देवाच्या नावावर चाललेल्या ढोंगावर कडाडून हल्ला चढवला
अवडंबर, आडंबर, ढोंग, थोतांड, दंभ, पाखंड

Pretending that something is the case in order to make a good impression.

They try to keep up appearances.
That ceremony is just for show.
appearance, show
२. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / कार्य

अर्थ : बनावटी आभा या दीप्ति।

उदाहरण : ज्यादा चमक-दमक मुझे पसन्द नहीं है।

पर्यायवाची : कलई, चमक दमक, चमक-दमक, चमकदमक, तड़क-भड़क, तड़कभड़क, मलमा, मुलम्मा

बनावट आभा वा दीप्ती.

अनावश्यक चमकधमक मला पसंत नाही.
चमकधमक, झगमगाट

A showy decoration that is basically valueless.

All the tinsel of self-promotion.
tinsel
मुहावरे भाषा को सजीव एवं रोचक बनाते हैं। हिन्दी भाषा के मुहावरे यहाँ पर उपलब्ध हैं।