सांझा करें ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं
हिन्दी शब्दकोश से तड़क-भड़क शब्द का अर्थ तथा उदाहरण पर्यायवाची एवं विलोम शब्दों के साथ।

तड़क-भड़क (संज्ञा)

१. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / कार्य

अर्थ : वह आचरण, काम आदि जिसमें ऊपरी बनावट का भाव रहता है।

उदाहरण : संत कबीर ने पाखंड पर तीखा व्यंग किया है।

पर्यायवाची : अटब्बर, अड़ाड़ा, आडंबर, आडम्बर, चमक दमक, चमक-दमक, टीम-टाम, टीमटाम, ठाट, ठाटबाट, ढकोसला, ढचर, ढोंग, तड़क भड़क, तमेला झमेला, तमेला-झमेला, ताम झाम, ताम-झाम, तामझाम, दिखावटीपन, दिखावा, परपंच, परपञ्च, पाखंड, पाखण्ड, पाषंड, पाषण्ड, प्रपंच, प्रपञ्च, बनावट, बाँकपन, बांकपन, लिफ़ाफ़ा, लिफाफा

दिखाऊपणाचे वागणे.

संतांनी देवाच्या नावावर चाललेल्या ढोंगावर कडाडून हल्ला चढवला
अवडंबर, आडंबर, ढोंग, थोतांड, दंभ, पाखंड

Pretending that something is the case in order to make a good impression.

They try to keep up appearances.
That ceremony is just for show.
appearance, show
२. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / कार्य

अर्थ : बनावटी आभा या दीप्ति।

उदाहरण : ज्यादा चमक-दमक मुझे पसन्द नहीं है।

पर्यायवाची : कलई, चमक दमक, चमक-दमक, चमकदमक, तड़क भड़क, तड़कभड़क, मलमा, मुलम्मा

बनावट आभा वा दीप्ती.

अनावश्यक चमकधमक मला पसंत नाही.
चमकधमक, झगमगाट

A showy decoration that is basically valueless.

All the tinsel of self-promotion.
tinsel
मुहावरे भाषा को सजीव एवं रोचक बनाते हैं। हिन्दी भाषा के मुहावरे यहाँ पर उपलब्ध हैं।