सांझा करें ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं
हिन्दी शब्दकोश से तनूनपाद् शब्द का अर्थ तथा उदाहरण पर्यायवाची एवं विलोम शब्दों के साथ।

तनूनपाद् (संज्ञा)

१. संज्ञा / सजीव / वनस्पति / वृक्ष

अर्थ : औषधि के रूप में काम आने वाला एक पेड़।

उदाहरण : चीते से कई प्रकार की औषधियाँ बनायी जाती हैं।

पर्यायवाची : अग्नि, अशन, चित्रक, चीता, तनूनपात्, द्वीपी, नखरायुध, पाठी, पाठीकुट

२. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / प्राकृतिक वस्तु

अर्थ : जलती हुई लकड़ी, कोयला या इसी प्रकार की और कोई वस्तु या उस वस्तु के जलने पर अंगारे या लपट के रूप में दिखाई देने वाला प्रकाशयुक्त ताप।

उदाहरण : आग में उसकी झोपड़ी जलकर राख हो गई।

पर्यायवाची : अगन, अगनी, अगिआ, अगिन, अगिया, अगिर, अग्नि, अनल, अनिलसखा, अमिताशन, अय, अर्क, अर्दनि, अशिर, आग, आगि, आगी, आज्यमुक, आतश, आतिश, आशर, आशुशुक्षणि, आश्रयास, कालकवि, चित्रभानु, जगन्नु, जल्ह, तनूनपात्, तपु, तपुर्जंभ, तपुर्जम्भ, तमोनुद, तमोहपह, दाढ़ा, दाव, दाहक, द्यु, धरुण, ध्वांतशत्रु, ध्वांताराति, ध्वान्तशत्रु, ध्वान्ताराति, नीलपृष्ठ, परिजन्मा, पर्परीक, पवन-वाहन, पशुपति, पावक, बरही, बहनी, बाहुल, भारत, मलिनमुख, यविष्ठ, राजन्य, लघुलय, वर्हा, वसु, वसुनीथ, वह्नि, विंगेश, विश्वप्स, वृष्णि, वैश्वानर, शिखि, शिखी, शुक्र, शुचि, सोमगोपा, हुतासन, हृषु, हेमकेली

३. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / खाद्य
    संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / मानवकृति

अर्थ : दूध का वह चिकना सार जो मक्खन को तपा कर प्राप्त किया जाता है।

उदाहरण : वह प्रतिदिन रोटी में घी लगाकर खाता है।

पर्यायवाची : अमृतसार, आज्य, घी, घीव, घृत, तनुनप, तनूनप, तनूनपात्, तामर, तोयद, देसी घी, नवनीतक, नवनीतज, वाज, शुद्ध घी, सर्पि

४. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / खाद्य

अर्थ : दही या दूध मथने से निकला हुआ उसका सार भाग जिसे तपाने से घी बनता है।

उदाहरण : बाल श्रीकृष्ण को मक्खन बहुत प्रिय था।

पर्यायवाची : अमृतसार, कच्चा घी, तनूनपात्, नयनू, नवनी, नवनीत, नेऊन, नैनू, नैनूँ, मक्खन, मसका, मस्का, माखन, लवनी, स्नेहन

तनूनपाद् के संभावित विलोम शब्द :- अशुचि, जल, पानी

तनूनपाद् के लिऐ अंग्रेजी भाषा के शब्द :- butter, ghee, plumbago

मुहावरे भाषा को सजीव एवं रोचक बनाते हैं। हिन्दी भाषा के मुहावरे यहाँ पर उपलब्ध हैं।