सांझा करें ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं
हिन्दी शब्दकोश से दाप शब्द का अर्थ तथा उदाहरण पर्यायवाची एवं विलोम शब्दों के साथ।

दाप (संज्ञा)

१. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / मनोवैज्ञानिक लक्षण

अर्थ : अपने आपको औरों से बहुत अधिक योग्य, समर्थ या बढ़कर समझने का भाव।

उदाहरण : अहंकार आदमी को ले डूबता है ।
किस बात की अकड़ है तुमको!।

पर्यायवाची : अकड़, अनति, अभिमति, अभिमान, अवलेप, अवलेपन, अवश्याय, अवष्टंभ, अवष्टम्भ, अहं, अहंकार, अहंकृति, अहंता, अहङ्कार, अहङ्कृति, अहमिति, अहमेव, अहम्मति, आटोप, आन, ऐंठ, ऐंठन, कल्क, ख़ुदी, खुदी, गडंग, गरूर, गर्व, ग़रूर, ग़ुरूर, गारो, गुमान, गुरूर, घमंड, घमण्ड, ठसक, दंभ, दम्भ, दर्प, पर्वरीण, प्रागल्भ्य, मगरूरी, मद, मान, शान, शेख़ी, शेखी

२. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / गुण

अर्थ : कोई ऐसा तत्व जो कोई कार्य करता, कराता या क्रियात्मक रूप में अपना प्रभाव दिखलाता हो।

उदाहरण : इस कार्य के दौरान आपकी शक्ति का पता चल जायेगा।

पर्यायवाची : अवदान, कुव्वत, कूवत, क्षमता, ज़ोर, जोर, ताकत, ताक़त, दम, दम-खम, दम-ख़म, दमखम, दमख़म, पावर, बल, बूता, वयोधा, वाज, वीर्या, वृजन, शक्ति, सत्त्व, सत्व, हीर

३. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / मनोवैज्ञानिक लक्षण

अर्थ : मन में उत्पन्न होनेवाला वह मनोवेग जिससे काम करने की शक्ति बढ़ती है।

उदाहरण : सचिन उत्साह के साथ बल्लेबाजी करते हैं।

पर्यायवाची : अध्यवसान, अभिप्रीति, उच्छाव, उच्छाह, उछाला, उछाव, उछाह, उत्तेजन, उत्साह, उमंग, उल्लास, गर्मजोशी, च्वेष, जोश, प्रगल्भता, प्रागल्भ्य, सरगरमी, सरगर्मी, स्पिरिट, हौसला

४. संज्ञा / अवस्था / भौतिक अवस्था

अर्थ : शक्ति, सम्मान, भय, आतंक या कोई विशेष बात आदि से प्राप्त प्रसिद्धि।

उदाहरण : इस इलाके में ठाकुर रणवीर की धाक है।

पर्यायवाची : दबदबा, धाँक, धाक, धाम, प्रभाव, बोलबाला, रुआब, रुतबा, रोआब, रोब, रोब-दाब, रौब, साख

५. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / मनोवैज्ञानिक लक्षण

अर्थ : चित्त का वह उग्र भाव जो कष्ट या हानि पहुँचाने वाले अथवा अनुचित काम करने वाले के प्रति होता है।

उदाहरण : क्रोध से उन्मत्त व्यक्ति कुछ भी कर सकता है।

पर्यायवाची : अनखाहट, अमरख, अमर्ष, अमर्षण, असूया, आक्रोश, आमर्ष, कहर, कामानुज, कोप, क्रोध, क्षोभ, खुनस, खुन्नस, गजब, गज़ब, ग़ज़ब, गुस्सा, तमिस्र, ताम, मत्सर, रिस, रीस, रुष्टि, रोष, व्यारोष

६. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / बोध

अर्थ : जलने से होनेवाली पीड़ा या कष्ट।

उदाहरण : घी लगाने से जलन कुछ कम हो रही है।

पर्यायवाची : आग, आदहन, जलन, ताप, दहक, दाव, दाह, व्युष्टि

७. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / कार्य / शारीरिक कार्य

अर्थ : शक्ति, वीरता आदि का ऐसा प्रभाव जिससे विरोधी दबे रहें।

उदाहरण : रावण के रौब से देव भी आतंकित थे।

पर्यायवाची : इकबाल, इक़बाल, दाब, प्रताप, रोब, रौब

मुहावरे भाषा को सजीव एवं रोचक बनाते हैं। हिन्दी भाषा के मुहावरे यहाँ पर उपलब्ध हैं।