सांझा करें ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं
हिन्दी शब्दकोश से पित्ताग्नि शब्द का अर्थ तथा उदाहरण पर्यायवाची एवं विलोम शब्दों के साथ।

पित्ताग्नि (संज्ञा)

१. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / शारीरिक वस्तु
    संज्ञा / रूप / द्रव

अर्थ : शरीर के अंदर का एक तरल पदार्थ जो यकृत में बनता है और पाचन में सहायक होता है।

उदाहरण : पित्त भोजन पचाने में सहायक होता है।

पर्यायवाची : पलंकर, पलङ्कर, पलाग्नि, पित्त, रंजन, रञ्जन, वैश्वानर, शिखी, साधक

यकृताच्या योगाने रक्तातून निघणारा आणि अन्नपचनास मदत करणारा एक पिवळा रस.

अती शेंगदाणे खाल्याने पित्त होते
पित्त

A digestive juice secreted by the liver and stored in the gallbladder. Aids in the digestion of fats.

bile, gall
मुहावरे भाषा को सजीव एवं रोचक बनाते हैं। हिन्दी भाषा के मुहावरे यहाँ पर उपलब्ध हैं।