सांझा करें ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं
हिन्दी शब्दकोश से रक्तग्रीव शब्द का अर्थ तथा उदाहरण पर्यायवाची एवं विलोम शब्दों के साथ।

रक्तग्रीव (संज्ञा)

१. संज्ञा / सजीव / जन्तु / पक्षी

अर्थ : झुंड में रहने वाला एक मँझोले आकार का पक्षी जो प्रायः मैदानों या छतों आदि पर दाना चुगते हुए देखा जा सकता है।

उदाहरण : प्राचीन काल में कबूतर संदेशवाहक का काम करते थे।

पर्यायवाची : अरुणनेत्र, अरुणलोचन, कपोत, कबूतर, कामी, छेद्यकंठ, ताम्रचक्षु, त्वरारोह, धूम्रलोचन, नरप्रिय, परेवा, पारवत, पारावत, बकदर्शी, रक्तनयन, रक्तनेत्र, रक्ताक्ष, रेवतक

Wild and domesticated birds having a heavy body and short legs.

pigeon
२. संज्ञा / सजीव / जन्तु / पौराणिक जीव

अर्थ : धर्म-ग्रंथों में मान्य वे दुष्ट आत्माएँ जो धर्म विरोधी कार्य करती हैं तथा देवताओं, ऋषियों आदि की शत्रु हैं।

उदाहरण : पुरातन काल में राक्षसों के डर से धर्म कार्य करना मुश्किल होता था।

पर्यायवाची : अनुशर, अपदेवता, अमानुष, अविबुध, अशिर, अश्रय, असुर, आकाशचारी, आशर, आसर, आस्रप, कर्बर, कर्बुर, कीलालप, कैकस, जातुधान, तमचर, तमाचारी, तमीचर, तरंत, तरन्त, त्रिदशारि, दतिसुत, दानव, देवारि, दैत, दैत्य, ध्वांतचर, ध्वान्तचर, नरांश, निशाचर, निशाविहार, निशिचर, निषकपुत्र, नृमर, नैऋत, नैकषेय, नैरृत, पलंकष, पलाद, पलादन, यातुधान, रक्तप, रजनीचर, राक्षस, रात्रिबल, रात्रिमट, रेरिहान, रैनचर, लंबकर्ण, लम्बकर्ण, सुरद्विष, ह्रस्वकर्ण

पुराणांत वर्णिलेले धर्मविरोधी कृत्ये करणारे देव व साधू यांचे शत्रू.

यज्ञात राक्षसांनी विघ्न आणू नये म्हणून विश्वामित्रांनी रामाला यज्ञाचे संरक्षण करण्याची आज्ञा केली
असुर, दानव, दैत्य, राक्षस
मुहावरे भाषा को सजीव एवं रोचक बनाते हैं। हिन्दी भाषा के मुहावरे यहाँ पर उपलब्ध हैं।