सांझा करें ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं
हिन्दी शब्दकोश से शुचि शब्द का अर्थ तथा उदाहरण पर्यायवाची एवं विलोम शब्दों के साथ।

शुचि (संज्ञा)

१. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / मानवकृति

अर्थ : धर्मानुसार पवित्र होने की अवस्था या भाव।

उदाहरण : गंगाजल की पवित्रता में कोई संदेह नहीं है।

पर्यायवाची : पवित्रता, पाकी, पाकीजगी, पाकीज़गी, पावनता, पावनत्व, शुचिता, शुद्धता, शुद्धि, शौच

२. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / प्राकृतिक वस्तु

अर्थ : पृथ्वी के चारों ओर चक्कर लगाने वाला एक उपग्रह।

उदाहरण : चंद्रमा सूर्य के प्रकाश से प्रकाशित होता है।

पर्यायवाची : अब्ज, अब्धिज, अमीकर, अमीनिधि, अमृत-रश्मि, अमृतकर, अमृतद्युति, अमृतबंधु, अमृतबन्धु, अमृतरश्मि, अमृतवपु, अमृतांशु, इंदव, इंदु, इन्दव, इन्दु, कलाधर, कलानाथ, कलानिधि, चंदा, चंद्र, चंद्रमा, चन्द्र, चन्द्रमा, चाँद, चांद, छायांक, जैवातृक, तमोहपह, तुषारकर, तुषारकिरण, तुहिनकर, तुहिनकिरण, तुहिनदीधित, तुहिनद्युति, तुहिनरश्मि, तुहिनांशु, तुहिनाश्रु, द्विज, द्विजपति, द्विजाति, द्विजेंद्र, द्विजेन्द्र, द्विजेश, नभश्चमस, नभश्चर, निशाधीश, निशानाथ, निशापति, निशामणि, निशारत्न, निशिकर, निशिनाथ, निशिनायक, निशिपति, निशिपाल, निशेश, पतम, पतय, पर्वधि, पीयूषमहस, पीयूषरुचि, पीयूषवर्ष, भग्नात्मा, मयंक, मृगमित्र, मृगांक, यामिनीपति, यामीर, रजनीनाथ, रजनीश, रसपति, राकेश, वरालि, विधु, विश्वप्स, विहंग, विहग, शंभुभूषण, शम्भुभूषण, शशांक, शशाङ्क, शशि, शिवशेखर, शिशिरकर, शिशिरगु, शिशिरमयूख, शीतकर, शीतदीधिति, शीतद्युति, शीतभानु, शीतरश्मि, शीतांशु, श्रीसहोदर, श्वेतद्युति, श्वेतधामा, श्वेतभानु, श्वेतमयूख, श्वेतवाहन, श्वेतांशु, श्वेतार्चि, सिंधुजन्मा, सिंधुनंदन, सिंधुपु, सितदीधिति, सिन्धुजन्मा, सिन्धुनन्दन, सुधांशु, सुधाकर, सोम, हिमकर, हिमवान्, हिमांशु, हृषु

३. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / प्राकृतिक वस्तु

अर्थ : जलती हुई लकड़ी, कोयला या इसी प्रकार की और कोई वस्तु या उस वस्तु के जलने पर अंगारे या लपट के रूप में दिखाई देने वाला प्रकाशयुक्त ताप।

उदाहरण : आग में उसकी झोपड़ी जलकर राख हो गई।

पर्यायवाची : अगन, अगनी, अगिआ, अगिन, अगिया, अगिर, अग्नि, अनल, अनिलसखा, अमिताशन, अय, अर्क, अर्दनि, अशिर, आग, आगि, आगी, आज्यमुक, आतश, आतिश, आशर, आशुशुक्षणि, आश्रयास, कालकवि, चित्रभानु, जगन्नु, जल्ह, तनूनपात्, तनूनपाद्, तपु, तपुर्जंभ, तपुर्जम्भ, तमोनुद, तमोहपह, दाढ़ा, दाव, दाहक, द्यु, धरुण, ध्वांतशत्रु, ध्वांताराति, ध्वान्तशत्रु, ध्वान्ताराति, नीलपृष्ठ, परिजन्मा, पर्परीक, पवन-वाहन, पशुपति, पावक, बरही, बहनी, बाहुल, भारत, मलिनमुख, यविष्ठ, राजन्य, लघुलय, वर्हा, वसु, वसुनीथ, वह्नि, विंगेश, विश्वप्स, वृष्णि, वैश्वानर, शिखि, शिखी, शुक्र, सोमगोपा, हुतासन, हृषु, हेमकेली

४. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / समय

अर्थ : वह मौसम या समय जब कड़ी धूप होती है।

उदाहरण : गर्मी में प्यास अधिक लगती है।

पर्यायवाची : अवदाध, उष्म काल, गरमी, गर्मी, गर्मी का मौसम, ग्रीष्म, ग्रीष्म काल, ग्रीष्म-ऋतु, ग्रीष्मऋतु, ग्रीष्मकाल, तप, निदाघ, निदाघकाल

५. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / समय / अवधि

अर्थ : वैशाख और आषाढ़ के बीच का महीना जो अंग्रेजी महीने के मई और जून के बीच में आता है।

उदाहरण : वह जेठ के कृष्ण पक्ष की दशमी को पैदा हुआ था।

पर्यायवाची : जेठ, ज्येष्ठ, ज्येष्ठ मास, ज्येष्ठमास, शुक्र

६. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / समय / अवधि

अर्थ : भारतीय महीनों में ज्येष्ठ के बाद का और श्रावण के पहले का महीना जो अंग्रेजी महीने के जून और जुलाई के बीच में आता है।

उदाहरण : आषाढ़ में अत्यधिक वर्षा के बावजूद किसान लोग खेती के कामों में लगे रहते हैं।

पर्यायवाची : अषाढ़, असाढ़, आशाढ़, आषाढ़, आषाढ़मास, आसाढ़

शुचि के संभावित विलोम शब्द :- अशुचि, कनिष्ठ, जल, जाड़ा, पानी, शीत, सरदी, सर्दी

शुचि के लिऐ अंग्रेजी भाषा के शब्द :- asadha, asarh, innocence, jeth, jyaistha, pureness, purity, sinlessness, whiteness

मुहावरे भाषा को सजीव एवं रोचक बनाते हैं। हिन्दी भाषा के मुहावरे यहाँ पर उपलब्ध हैं।