सांझा करें ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं
हिन्दी शब्दकोश से श्रृंगार शब्द का अर्थ तथा उदाहरण पर्यायवाची एवं विलोम शब्दों के साथ।

श्रृंगार (संज्ञा)

१. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / कार्य / शारीरिक कार्य

अर्थ : स्त्रियों का गहने, कपड़े आदि से अपने आपको सजाने की क्रिया।

उदाहरण : कुछ स्त्रियों का अधिकांश समय शृंगार में व्यतीत होता है।

पर्यायवाची : आकल्प, नोंक-झोंक, नोंकझोंक, नोक झोक, नोक-झोंक, नोक-झोक, नोकझोंक, नोकझोक, बन-ठन, बन-सँवर, बनना-ठनना, बनना-सँवरना, बनाव शृंगार, बनाव-शृंगार, बनावशृंगार, मेकप, रूप सज्जा, शृंगार, शृंगार करना, सँवरना, सज-धज, सजधज, सजना, सजना सँवरना, सजना-धजना, सजना-सँवरना, सजना-सवँरना, साज शृंगार, साज श्रृंगार, साज सँवार, साज-शृंगार, साज-श्रृंगार, सिंगार

स्त्रियांचे नटणे, सजणे.

नववधूने छान शृंगार केला होता
शृंगार

Cosmetics applied to the face to improve or change your appearance.

make-up, makeup, war paint
२. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / गुणधर्म

अर्थ : साहित्य के नौ रसों में से सबसे अधिक प्रसिद्ध प्रधान रस।

उदाहरण : शृंगार रस में नायक-नायिका के मिलन अथवा संयोग से उत्पन्न सुख या वियोग के कारण होने वाले कष्टों का वर्णन होता है।

पर्यायवाची : आदिरस, शृंगार, शृंगार रस, श्रृंगार रस

मुहावरे भाषा को सजीव एवं रोचक बनाते हैं। हिन्दी भाषा के मुहावरे यहाँ पर उपलब्ध हैं।