सांझा करें ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
Google Play पर पाएं
हिन्दी शब्दकोश से सर्पि शब्द का अर्थ तथा उदाहरण पर्यायवाची एवं विलोम शब्दों के साथ।

सर्पि (संज्ञा)

१. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / खाद्य
    संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / मानवकृति

अर्थ : दूध का वह चिकना सार जो मक्खन को तपा कर प्राप्त किया जाता है।

उदाहरण : वह प्रतिदिन रोटी में घी लगाकर खाता है।

पर्यायवाची : अमृतसार, आज्य, घी, घीव, घृत, तनुनप, तनूनप, तनूनपात्, तनूनपाद्, तामर, तोयद, देसी घी, नवनीतक, नवनीतज, वाज, शुद्ध घी

लोणी कढवल्यावर मिळणारा स्निग्ध पदार्थ.

तो पोळीवर तूप घेत नाही
तूप

Clarified butter used in Indian cookery.

ghee
२. संज्ञा / सजीव / जन्तु / पौराणिक जीव

अर्थ : एक वैदिक ऋषि।

उदाहरण : सर्पि का वर्णन वेदों में मिलता है।

पर्यायवाची : सर्पि ऋषि

A mentor in spiritual and philosophical topics who is renowned for profound wisdom.

sage
३. संज्ञा / सजीव / जन्तु / पौराणिक जीव

अर्थ : एक राक्षस।

उदाहरण : सर्पि का वर्णन विष्णु पुराण में मिलता है।

एक राक्षस.

सर्पिचे वर्णन विष्णु पुराणात आढळते.
सर्पि, सर्पी
मुहावरे भाषा को सजीव एवं रोचक बनाते हैं। हिन्दी भाषा के मुहावरे यहाँ पर उपलब्ध हैं।